तुमको जी लिया मैंने

तुमको इस तरह जी लिया मैंने कि खुदको तुममें बुना लिया मैंने लिख दिये कई गीत और गजल जिन्हें चाहता से चुरा लिया मैंने इस तरह तुमको लिखा साथी खुद को शुरो में पिरो लिया मैंने तुम अल्फाज़ो से इस…

सुन मोहब्बत, तुझ पर मेरा उधार बाकी रहा

सुन मोहब्बत, तुझ पर मेरा उधार बाकी रहा न टूटा जो, टूटकर भी वो ऐतबार बाकी रहा राब्ता न रक्खा, वफ़ा औ फरेब से कोई अब कश्ती में ठहरा हुआ, इक मझधार बाकी रहा वास्ता जो पड़ता कभी बेवफा की…

प्रेम की पुकार

प्रेम की पुकार और रवानी देख लीजिए कान्हा ओर राधा की कहानी देख लीजिए सावन की फुआर सा मिलना तुम्हारा है कोई यमुना सी प्रीत पुरानी देख लीजिये प्रेम एक रोग बड़ा सुखद है मेरी जान प्रेम की दीवानी मीरा…

आँख के रस्ते आ जाते हो।

आँख के रस्ते आ जाते हो। साँसों में’यूँ समा जाते हो।। धुप में ग़म के जलते हैं जो , बादल बनके छा जाते हो । दरवाज़े पे कब से खड़े हो , आते हीं हो ना जाते हो। अंधियारे में…